संस्कृत

संस्कृत में कहानी–दैवमेव परम्

संस्कृत में लघु कथा या कहानी सुनना या पढ़ना एक लाभप्रद कार्य है। मैंने कुछ समय पहले ही संस्कृत भाषा का अध्य्यन आरम्भ किया। व्याकरण के अभ्यास के लिये मुझे ये लघु कथायें बहुत ही अनुकूल जान पड़ती हैं। कुछ कहानियाँ शिक्षा प्रदायक अथवा कुछ जीवन के विभिन्न अङ्गों को दर्शाने वाली होती हैं। कुछ …

संस्कृत में कहानी–दैवमेव परम्Read More »

संस्कृत में कहानी–सहसा विदधीत न क्रियाम्

संस्कृत भाषा में लघु कथा पढ़नें में जो आनन्द मिलता है वो अकथनीय है। व्यक्तिगत स्तर पर मैं कह सकता हूँ कि यदि आप संस्कृत भाषा का अभ्यास करना चाहते हैं तो ये लघु कथायें सबसे लाभप्रद सिद्ध होती हैं। व्याकरण का भी अच्छा अभ्यास हो जाता है तो रोचक होने के कारण शीघ्रता से …

संस्कृत में कहानी–सहसा विदधीत न क्रियाम्Read More »

संस्कृत सुभाषितानि–संस्कृत भाषा में सुविचार तथा सूक्तियाँ

संस्कृत में सुविचार या सूक्तियाँ पढ़ने का अपना ही आनन्द है। संस्कृत सुभाषितानि करके गूगल पर प्रयोक्ता प्रायः ही खोज करते हैं ता कि उनको संस्कृत भाषा में भिन्न-भिन्न प्रकार के सुविचार या सूक्तियाँ उपलब्ध हों। इसी गण्तव्य को लेकर हमारा ये प्रयास आपके लिये प्रस्तुत है। हम इस बार आपके लिये 10 संस्कृत सुभाषितानि …

संस्कृत सुभाषितानि–संस्कृत भाषा में सुविचार तथा सूक्तियाँRead More »

संस्कृत प्रहेलिका–Riddles in Sanskrit

अस्थि नास्ति शिरो नास्ति बाहुरस्ति निरङ्गुलिः। नास्ति पादद्वयं गाढम् अङ्गमालिङ्गति स्वयम्।। उत्तरम्: युतकम्   वृक्षाग्रवासी न च पक्षिराजः त्रिणेत्रधारी न च शूलपाणिः। त्वग्वस्त्रधारी न च सिद्धयोगी जलं च बिभ्रन्न घटो न मेघः।। उत्तरम्: नारिकेलम्   विष्णोः का बल्लभा देवी लोकत्रितयचारिणी। वर्णावाद्यन्तिमौ दत्त्वा कः शब्दः तुल्यवाचकः।। उत्तरम्: समानम्   पुरुषः कीदृशो वेत्ति प्रायेण सकलाः कलाः। मध्यवर्णद्वयं त्यक्त्वा ब्रूहि कः …

संस्कृत प्रहेलिका–Riddles in SanskritRead More »

संस्कृत में कहानी–बुद्धिमान शिष्य

संस्कृत भाषा में लघु कथायें सुनने का आनन्द इस लिये है कि ये कथायें प्रायः बालकों तथा बड़े-बूढ़ों का मनोरञ्जन करती हैं तथा साथ ही जीवन की बहुमूल्य शिक्षायें भी प्रदान करती हैं। पुराने समय में बच्चे दादा-दादी या नाना-नानी से ऐसे ही कहानियाँ सुनने की प्रतीक्षा करते रहते थे क्योंकि उस समय टीवी या …

संस्कृत में कहानी–बुद्धिमान शिष्यRead More »

संस्कृत में कहानी–कुशल वृद्ध

जैसा कि हमने पहले भी देखा तथा पढ़ा है, संस्कृत भाषा में लघु कथायें पढ़ने का अपना ही आनन्द है। जो संस्कृत भाषा को सीख रहे हैं, उनके लिये तो यह एक उत्तम अभ्यास क्रिया के जैसा ही है। सरल लघु कथा के माध्यम से धातुओं की विभक्तियों का बहुत अच्छे प्रकार से अभ्यास हो …

संस्कृत में कहानी–कुशल वृद्धRead More »

संस्कृत कहानी चालाक लोमड़ी

बाल्यकाल से ही विद्यार्थी इस कहानी को कण्ठस्थ कर सभी को सुनाते रहते हैं। चालाक लोमड़ी तथा अङ्गूर खट्टे हैं ये दो ऐसे कथन हैं जो लगभग सभी बच्चों को सरलता से स्मरण रहते हैं। आङ्गल भाषा में भी इस कथा का उच्चारण बच्चों से करवाया जाता है। मैं अपने बाल्यकाल से लेकर अपनी बेटी …

संस्कृत कहानी चालाक लोमड़ीRead More »

संस्कृत भाषा में प्यासा कौवा कहानी

प्यासे कौवे की कहानी भारत में रहने वाले किस विद्यार्थी ने नहीं सुनी होगी। लगभग सभी भाषाओं में इस कहानी का अनुवादित रूप उपस्थित है। मुझे स्मरण है कि मैं जब द्वितीय श्रेणी का छात्र था तो मुझे ये कहानी आङ्गल भाषा में स्मरण करने के लिये कहा गया था। बहुत कठिनीई हुई थी क्योंकि …

संस्कृत भाषा में प्यासा कौवा कहानीRead More »

संस्कृत में कहानी–चतुरः शृगालः

पाठशाला में जाने वाले या संस्कृत भाषा में रुचि रखने वाले पाठकों के लिये हम एक लघु कथा प्रस्तुत कर रहे हैं। सम्पूर्ण कथा संस्कृत भाषा में अनुवादित है। ये कहानी एक सिंह तथा सियार की है जिसमें चतुर सियार ना ही अपना जीवन सुरक्षित करता है बल्कि सिंह जो कि क्रूर था उसको भी …

संस्कृत में कहानी–चतुरः शृगालःRead More »