hindi poems

Hindi poem for kids about a parrot

मैंने है एक तोता पाला सीधा साधा भोला भाला पिञ्जरे में बन्द रहता है रामराम वह कहता है

Hindi poem for kids about trees

फल फूलों के वृक्ष लगाओ पाल पोसकर इन्हें बढ़ाओ पत्ते फूल न कुछ भी तोड़ो देखभाल में कमी न छोड़ो

Hindi Poem–रोहतक से चलकर रूह तक

कोई था जो रोहतक से चलकर रूह तक आता था अब तो जलने और जलाने के समाचार ही आते हैं।   वो बातें किया करता था मीलों साथ चलने की अब हर मोड़ बन्द है, पक्षी उड़ने से घबराते हैं।   जिससे बात करके सीने में जान आ जाती थी अब वो नहीं पत्रकार ही …

Hindi Poem–रोहतक से चलकर रूह तकRead More »

Hindi Poem–अरी सखी

अरी सखी कौन कहता है तू अबला है   तू तो लक्षमी है जो रणचण्डी बनी।   तू तो सत्य से भी विचित्र कल्पना है जो अन्तरिक्ष को छू गई।   तू तो विपत्ति की दलदल से ऊपर उठकर नीरजा बन कर खिली।   अरी सखी तू सबला है। तू निर्भया है। तू प्रबला है।

बच्चों की कविता

Hindi poem for kids about a fish

Poem in Hindi for kids–बाल कविता बच्चों की कविता सुन कर कई बार आपको हंसी आ जाती है क्योंकि कुछ कवितायें चिरकाल से चलती आ रही हैं तथा आपके बाल्य काल से वो ही पाठशालाओं तथा विद्यालयों में पढ़ाई जा रही हैं। ऐसी ही एक नर्सरी कविता नीचे दी गई है… मछली जल की रानी …

Hindi poem for kids about a fishRead More »

Hindi poem for kids

Hindi poem for kids

Poem in Hindi for kids–बाल कविता Below is a simple Hindi poem for kids that is centered on an elephant: हाथी राजा सबको भाते, बस केले और गन्ने खाते। रोज़ नदी के तट पर जाते, पानी से फ़िर ख़ूब नहाते। It’s English translations is as follows: The Elephant king is liked by everyone, He eats …

Hindi poem for kidsRead More »

A poem in Hindi

तुम मेरे नहीं हो सकते ये मैं जानता हूँ। मैं जानता हूँ तुम मेरे नहीं हो सकते। मगर क्या कभी काँटों ने फूलों की तरह नहीं खिलना चाहा? क्या कभी लहरों ने किनारों की तरह नहीं मिलना चाहा? क्या कभी आग को प्यास नहीं लगी या फिर मरने वाले को जीने की आस नहीं लगी? …

A poem in HindiRead More »