हिन्दी भाषा सीखें–विस्मयादिबोधक अव्यय (Hindi Interjection)

जिस अव्यय से हर्ष, घृणा, आश्चर्य, शोक, दुःख, करुणा आदि भावों का प्रकट होना प्रतीत हो उसे विस्मयादिबोधक अव्यय कहा जाता है। जैसे –

  • वाह! मिठाई स्वादिष्ट है।
  • छि: छि: ! कितनी दुर्गन्ध आ रही है।
  • अरे! यह शीशा कैसे टूटा।

इन वाक्यों में ‘वाह’ शब्द हर्ष का; ‘छि: छि:’ शब्द घृणा का और ‘अरे’ शब्द आश्चर्य का भाव प्रकट करता है।

विस्मयादिबोधक अव्यय (Kinds of Hindi Interjection)

  • विस्मयसूचक – अरे! सच! क्या !
  • हर्षसूचक – वाह! अहा! शाबाश !
  • शोकसूचक – हाय! आह! ओह !
  • अनुमोदनसूचक – हाँ, हाँ! बहुत अच्छा! अवश्य !
  • सम्बोधनसूचक – अरे! ए! अरी !
  • तिरस्कारसूचक – छि: ! थू! धत् !
  • स्वीकारबोधक – जी हाँ! हाँ! जी !
  • विदासूचक – अच्छा! अच्छा जी! टा-टा !
  • भयबोधक – अरे बाप रे! उई माँ! त्राहि- त्राहि !
  • विवशताबोधक – काश! कदाचित्! हे भगवान !

Comments

comments

Leave a Reply